Back

सेंटर फॉर फ्यूल सैल टेक्नॉलोजी

सेंटर का प्रमुख लक्ष्य, पॉलिमर इलेक्ट्रोलाइट मेम्ब्रेन फ्यूल सैल्स (पीईएमएफसी), जो कम तापक्रम के फ्यूल सैलों में से एक हैं और अपनी पूर्णता और विकेन्द्रीकृत उर्जा प्रजनन प्रणाली में अपने अनुप्रयोग का प्रदर्शन करने और परिवहनीकरण अनुप्रयोगों का विकास करते हैं | इस कार्य में सामग्रियों के विकास के कई पहलुओं, अंबार की अभिकल्पना और अभियाँत्रिकी, प्रणाली विकास का शेष, प्रणाली अभिकल्पना और अभियाँत्रिकी और क्षेत्र परीक्षणों का संचालन करना आदि शामिल है | पीईएमएफसी के विकास के अलावा, सेंटर अन्य क़िस्मों के फ्यूल सैलों के विकास और हाईड्रोजन जनन और भंडारण सामग्रियों और प्रौद्योगिकियों के विकास में भी नियोजित है | फ्यूल सैलों के लिए विकसित सामग्रियों का,अन्य इलेक्ट्रोकेमिकल और बैटरियों जैसे उर्जा भंडारण उपकरणों और सुपरकैपसिटरों में,उपयोग करना भी सेंटर का प्रयास है | सेंटर के आदेशपत्रों में से एक विकास में उद्योगों को शामिल करना और अंतत: इसका वाणिज्यीकरण करना है | सेंटर के अन्य लक्ष्यों में ज्ञान को फैलाना और मानवशक्ति प्रजनन हैं |

सेंटर, देश में पीईएमएफसी के विकास में सबसे आगे रहा है | गत नौ वर्षों के दौरान सेंटर ने फ़्यूल - सैल अंबारों में उपयोग में लाये जानेवाले विभिन्न संघटकों के लिए जानकारी प्रक्रिया विकसित की है और 10क्व क्षमता तक के ढेरों के लिए फ़्यूल सैल का निर्माण करके फ़्यूल सैल आधारित विकेन्द्रीकृत विद्युत प्रजनन में प्रणाली के आवश्यक संतुलन वाले विद्युत आधारित फ़यूल सैल प्रदर्शित किया और रेंज विस्तारकों की तरह उपयोग करके विद्युत वाहन में फ़्यूल सैल प्रदर्शित किया | हाईड्रोजन प्रौद्योगिकी विकास के अंग के रूप में, सेंटर ने हाईड्रोजन जनन के लिए प्रौद्योगिकी विकसित की है | केन्द्र अनुसंधान और विकास गतिविधियाँ, निष्पादन ,सुधार और लागत में कटौती की समस्याओं का समाधान करता हैं |