Back

सेंटर फॉर इंजीनियर्ड कोटिंग्स

जहाँ तक सर्फेस मॉडिफिकेशन ( सतही परिष्करण ) प्रौद्योगिकियों का संबंध है, हाल ही के वर्षों में भारत उल्लेखनीय रूप से इस क्षेत्र में परिपक्व हो चुका है | भारतीय उद्योग द्वारा सर्फेस मॉडिफिकेशन ( सतही परिष्करण ) प्रौद्योगिकियों को अपनाने की सुस्पष्ट उपरिमुखी प्रवृत्ति ने विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार द्वारा और कई अभिक्रमों द्वारा भी उत्प्रेरित किया गया है | एआरसीआई के वैज्ञानिकों ने इन अभिक्रमों का नेतृत्व करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है और संगठन सुसंगत रूप से राष्‍ट्रीय महत्व की कोटिंग प्रौद्योगिकियों की पहचान करने का प्रयास किया है और उनको सचेतन रूप से आगे बढ़ाया है जो देश में अन्यत्र अनुपलब्ध है

एआरसीआई ने, गत वर्षों से, सतही परिष्करण प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में अपने आपको अग्रणी की तरह सफलतापूर्वक उभरा है | एआरसीआई के सेंटर फॉर इंजीनियर्ड कोटिंग्स (सीईसी) ने विपरीत पर्यावरणों में परिचालित संघटकों के टिकाऊपन और निष्पादन की वृद्धि करने की चुनौतियों का सामना करने के लिए भारतीय उद्योग को सहायता पहुँचाने के लिए समुचित सतही परिष्करण प्रौद्योगिकी विभाग के विशाल प्रतिबिंब के विकास में नियोजित रही है | सेंटर फॉर इंजीनियर्ड कोटिंगों के प्रयासों ने अंतत: संबंधित प्रौद्योगिकियों को लागत प्रभावी पद्धति में निजी उद्यमियों को प्रौद्योगिकियों को अंतरित करने पर ध्यान केंद्रित / फोकस किया है

सेंटर फॉर इंजीनियर्ड कोटिंग्स द्वारा संभावी उपयोगकर्ता उद्योगों को गुणता और लागत के रेंज को प्रस्तावित करने के लिए काई कोटिंग प्रौद्योगिकियों की साथ - साथ खोज की जा रही है | इनमे से कुछ परिपक्व हो चुकी है और उद्योग को सफलतापूर्वक अंतरित किया जा चुका हैं जबकि , अन्य उत्तेजक प्रौद्योगिकियों वर्तमान समय में संदान पर हैं

सेंटर फॉर इंजीनियर्ड कोटिंग्स में स्थापित कुछ प्रमुख कोटिंग प्रौद्योगिकियाँ ये हैं:

  • विस्फोट स्प्रे कोटिंग
  • इलेक्ट्रॉन बीम भौतिक वाष्प जमा / निक्षेपण
  • कैथोडिक - आर्क भौतिक वाष्प निक्षेपण
  • पल्स्ड इलेक्ट्रो - निक्षेपण कोटिंग्स
  • घोल प्रीकर्जर प्लाज्मा स्प्रेकोटिंग
  • कोल्ड स्प्रे कोटिंग
  • माइक्रो आर्क आक्सीडेशन